Sunday , 25 February 2018
Breaking News

इस खूबसूरत लड़की से डरा ISIS, जान से मारने के लिए की इनाम की घोषणा…


जिस ISIS का नाम लेने से पूरी दुनिया थरथराती है. अब वही आईएसआईएस एक लड़की के हथियार थाम लेने से खौफ में है. बगदादी और उसके गुर्गों को जिस लड़की ने खौफ में जीने को मजबूर किया है. उसका नाम है जोआना पलानी और उसकी उम्र है मात्र 23 साल.

joaana-plaani-4
जोआना पलानी

ISIS पलानी से इतना डरा हुआ है कि उसने घोषणा की है कि जो भी पलानी को जान से मारेगा उसे 10 लाख डॉलर यानि की करीब 6 करोड़ 78 लाख रुपये का इनाम दिया जाएगा.

joaana-plaani3
जोआना पलानी

कौन है जोआना पलानी?

पलानी का परिवार मूल रूप से ईरान के कुर्दिस्तान का रहने वाला है.

पहले गल्फ वॉर के दौरान इराक के रमादी में जोआना पैदा हुईं थी.

बाद में उसके परिवार को डेनमार्क में रहने की इजाजत मिल गई.

2014 में आईएसआईएस के खिलाफ कुर्दिश रेवोल्यूशन ज्वाइन करने के लिए जोआना ने पढ़ाई छोड़ दी थी.

पलानी सीरिया में कुर्दिश पीपुल्स प्रोटेक्शन यूनिट (YPG) और इराक में पेशमर्गा फोर्स के साथ आईएसआईएस के खिलाफ लड़ चुकी हैं.

जोआना चाहती हैं कि लोगों को पता लगे कि YPG एक आतंकी ऑर्गनाइजेशन नहीं है.

सीरिया और इराक में आईएसआईएस के खिलाफ लड़ाई में उतरी थीं.

फिलहाल वो डेनमार्क की राजधानी कोपेनहेगन में जेल में बंद हैं और उस पर मुकदमा चल रहा है.

joaana-pnaani
जोआना पलानी

अल-अरबिया की रिपोर्ट के मुताबिक, आईएसआईएस ने कई सोशल मीडिया प्‍लेटफॉर्म्‍स के जरिए अलग-अलग भाषाओं में पलानी को मारने वाले को इनाम देने की घोषणा की है.

joanna-palani
जोआना पलानी

जोआना पलानी के कारनामे

जोआना पर जून, 2015 से देश छोड़ने पर बैन लगा दिया गया था.

अगर जोआना पर लगे आरोप सही पाए गए तो दो साल की जेल हो सकती है.

जोआना पर आरोप हैं कि उसने ISIS आतंकियों को डेनमार्क से मिडल ईस्ट में स्थापित किया.

सीरिया में जोआना ने कुछ लड़कियों को आईएसआईएस के चंगुल से मुक्‍त करवाया है. उन लड़कियों की उम्र 16 साल से भी कम थी.

उनकी हालत इतनी खराब थी कि उन्हें तुरंत अस्पताल ले जाना पड़ा.

वहीं जोआना को एक 11 साल की प्रेग्नेंट बच्ची मिली, जिसने जोआना के सामने ही दम तोड़ दिया.

डॉक्टर्स से लेकर जवानों तक, सब उस बच्ची की मौत पर रो रहे थे.

palani
जोआना पलानी

जोआना कहती हैं कि वो अपनी जिंदगी महिलाओं को उनका अधिकार दिलाने के लिए कुर्बान कर देना चाहती हैं. जोआना का कहना है कि ISIS लड़ाकों को मारना ज्‍यादा आसान है, क्योंकि वो अपनी जिंदगी कुर्बान करने में संकोच नहीं करते, लेकिन असद के जवानों के साथ ऐसा नहीं है, उन्हें लोगों को मारने की ट्रेनिंग दी जाती है. ISIS की इस तरह की हरकतों से तो ये तय है कि अब आतंकी संगठन आईएसआईएस का पतन नजदीक है.

About Sudhanshu Vishwakarma

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may use these HTML tags and attributes: <a href="" title=""> <abbr title=""> <acronym title=""> <b> <blockquote cite=""> <cite> <code> <del datetime=""> <em> <i> <q cite=""> <strike> <strong>