Sunday , 20 May 2018
Breaking News

विश्व कैंसर दिवस पर खासः जानें कितना खतरनाक है कैंसर, कैसे दें कैंसर को मात ?


4 फरवरी को पूरा विश्व कैंसर दिवस मनाता है। आप सोच रहें होंगे कि आखिर कैंसर दिवस मनाने की जरुरत क्यों पड़ी? तो आपको ये जानना जरूरी है कि कैंसर एक ऐसी खतरनाक बीमारी है जो जान लेकर छोड़ती है। कैंसर का पूर्ण रुप से आज भी कोई इलाज नहीं है। विश्व के करोड़ों डॉक्टर और मेडिकल साइंस से जुड़े सांइनटिस्ट कैंसर की दवा को खोजने में दिन रात लगे हैं। लेकिन अगर कुछ सावधानियां बरती जाएं तो कैंसर को भी मात दी जा सकती है। युवा पत्रकार आज कैंसर से जुड़ी हुई जानकारी आपको देगा।

World-Cancer-Day

बीमारियों से होने वाली मौतों का सबसे बड़ा कारण है कैंसर। तमाम प्रयासों के बावजूद कैंसर के मरीजों की संख्या में कोई कमी नहीं आ रही है। हर साल 4 फरवरी को विश्व कैंसर दिवस मनाया जाता है, सिर्फ इसीलिए ताकि लोगों को कैंसर के होने वाले नुकसान के बारे में बताया जा सकें और लोगों को अधिक से अधिक जागरूक किया जा सकें। ऐसा माना जा रहा है 2030 तक कैंसर के मरीजों की संख्या 1 करोड़ से भी अधिक हो सकती हैं। कैंसर क्या है, कैंसर क्यों होता है, इसका इलाज क्या है इन बातों को जानना जरूरी है. आइए जानें विश्व कैंसर दिवस पर कैंसर के बारे में कुछ और बातें।

bowel cancer

कैंसर क्या होता है ?

शरीर में कोशिकाओं के समूह की अनियंत्रित वृद्धि कैंसर है, जब ये कोशिकाएं टिश्यू को प्रभावित करती हैं तो कैंसर शरीर के अन्य हिस्सों में फैल जाता है। कैंसर किसी भी उम्र में हो सकता है। लेकिन यदि कैंसर का सही समय पर पता ना लगाया गया और उसका उपचार ना हो तो इससे मौत का जोखिम बढ़ सकता है।

breast-cancer

कैंसर के प्रकार-

कैंसर के कई प्रकार हैं या यूं कहें कि कैंसर के सौ से भी अधिक रूप है। जैसे- स्तन कैंसर, सर्वाइकल कैंसर, ब्रेन कैंसर, बोन कैंसर, ब्लैडर कैंसर, पेंक्रियाटिक कैंसर, प्रोस्टेट कैंसर, गर्भाशय कैंसर, किडनी कैंसर, लंग कैंसर, त्वचा कैंसर, स्टमक कैंसर, थायरॉड कैंसर, मुंह का कैंसर, गले का कैंसर इत्यादि।

कैंसर के कारण-

कैंसर कई तरह का होता है और हर कैंसर के होने के अलग-अलग कारण हैं। लेकिन कुछ मुख्य कारक ऐसे भी हैं जिनसे कैंसर होने का खतरा किसी को भी हो सकता है।

cancer-treatment

ये कारक हैं-

वजन बढ़ना या मोटापा।

अधिक शारीरिक सक्रियता ना होना।

एल्कोहल और नशीले पदार्थों का अधिक मात्रा में सेवन करना।

कैंसर में पौष्टिक आहार ना लेना।

अपनी दिनचर्या में व्यायाम को शामिल ना करना।

कैंसर के अन्य कारण-

कैंसर आनुवांशिक भी हो सकता है। कई बार कैंसर से पीड़ित माता या पिता के जीन बच्चे में भी आ जाते हैं जिससे बच्चे को भविष्य में कैंसर होने की आशंकाएं बढ़ जाती हैं।

किसी गंभीर बीमारी के कारण भी आपको कैंसर हो सकता है। यानी यदि आप किसी गंभीर बीमारी के लिए दवाएं ले रहे हैं तो इन दवाओं के साइड इफेक्ट्स के कारण आप कैंसर के शिकार हो सकते हैं।

कई बार उम्र के बढ़ने के साथ भी शरीर में चुस्ती-फुर्ती नहीं रहती और उम्र के पड़ाव पर व्यक्ति बीमार पड़ने लगता है, ऐसे में कई बार कैंसर भी हो जाता है।

what-is-cancer-cell

क्या आप जानते हैं देश में सबसे अधिक होने वाली मौतों में कुछ कैंसर प्रमुख हैं ?

महिलाओं में ब्रेस्ट कैंसर, गर्भाश्य कैंसर और सर्वाइकल कैंसर से सबसे अधिक मौते होते हैं।

पुरूषों में सबसे अधिक मौत लंग, स्टमक, लीवर, कोलेस्ट्रोल और ब्रेन कैंसर से होती है।

कैंसर से मरने वाले लोगों में महिलाओं का प्रतिशत पुरूषों से अधिक है।

आपको पता होना चाहिए कि भारत में 30 लाख से भी अधिक लोग कैंसर से पीड़ित हैं। इतना ही नहीं भारत में दुनिया में 15 लाख महिलाओं की मृत्यु नशीले पदार्थों के सेवन से होती है।

आप यदि कैंसर से बचना चाहते हैं तो आपको अपनी जीवनशैली नियंत्रि‍त करनी होगी। इतना ही नहीं आपको अपने खानपान पर विशेष ध्यान होगा।

About Sudhanshu Vishwakarma

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may use these HTML tags and attributes: <a href="" title=""> <abbr title=""> <acronym title=""> <b> <blockquote cite=""> <cite> <code> <del datetime=""> <em> <i> <q cite=""> <strike> <strong>