Sunday , 25 February 2018
Breaking News

8वीं फेल ये लड़का है करोड़पति… रिलायंस और सीबीआई को देता है ट्रेनिंग।


पढ़ोगे-लिखोगे बनोगे नवाब, खेलोगे कूदोगे बनोगे खराब। बचपन से लेकर आज तक हम यही सुनते आ रहे हैं। लेकिन क्या सचमुच में ऐसा है। हर किसी के मां-बाप चाहते है कि उनका बच्चा पढ़-लिखकर नवाब बने। लेकिन पढ़ना-लिखना सब के बस की बात कहा। कुछ तो बिना पढ़े ही करोड़पति हैं।

trishneet-arora_650x400_81511242006

अब इनको ही ले लीजिए… सोशल मीडिया में आजकल खूब चर्चा में हैं जनाब। बड़े-बड़े अखबारों और न्यूज़ चेनलों ने इनकी कामयाबी पर लंबा-लंबा लेख लिखा है।

bhaskar news trishneet
साभार- लुधियाना भास्कर
The Weekly Tribune, London Uk
साभार- द विकली ट्रिबून

कौन हैं ये जनाब… जो 8वीं फेल होने के बावजूद इतनी सी उम्र में करोड़पति है।

trishneet-arora_650x400_51511241991

trishneet-arora_650x400_81511241975

 

ये बड़े-बड़े नेता-अभिनेता के साथ ऐसे खड़े है जैसे ये लोग इनके फैन हो। इनका नाम है… त्रिशनित अरोड़ा… ये मुंबई के रहने वाले है। 23 साल की उम्र में बंदा साइबर सिक्युरिटी एक्सपर्ट हैं और खुद की टीएसी सेक्युरिटी सॉल्यूशन नाम से कंपनी भी है।

trishneet-2

 

भारत में इनकी कंपनी के चार ऑफिस हैं और दुबई में भी एक ऑफिस है। करीब 40% क्लाइंट्स इन्हीं ऑफिसेस से डील करते हैं। दुनियाभर में 50 फॉर्च्यून और 500 कंपनियां क्लाइंट हैं। त्रिशनित का सपना है कि वो बिलियन डॉलर सेक्युरिटी कंपनी खड़ी करें। फोर्ब्स की मानें तो भारत के अलावा, टीएसी दुबई से भी काम करता है।

humans-of-bombay_650x400_41488203426

त्रिशनित अरोड़ा जब 21 साल के थे तो उन्होंने अपनी कंपनी स्टार्ट की थी। त्रिशनित अब रिलायंस, सीबीआई, पंजाब पुलिस, एवन साइकिल जैसी कंपनियों को साइबर से जुड़ी सर्विसेज दे रहे हैं। वो हैकिंग पर किताबें भी लिख चुके हैं… ‘हैकिंग टॉक विद त्रिशनित अरोड़ा’ ‘दि हैकिंग एरा’ और ‘हैकिंग विद स्मार्ट फोन्स’ जैसी किताबें उन्होंने लिखी हैं। बाप रे बाप… इतनी उम्र में इतनी किताबें।

trishneet book-1

चलिए अब जो त्रिशनित को लेकर सोशल मीडिया में चर्चा हो रही है। उसके बारे में आपको बतातें है। ये सच है कि त्रिशनित 8वीं फेल हैं। लेकिन ये अब कि नहीं पुरानी बात है। त्रिशनित अरोड़ा ने बताया है कि बचपन से ही उन्हें कम्प्यूटर में रुची थी। वो हर समय वीडियो गेम खेला करते थे। देर तक कम्प्यूटर में बैठने पर उनके पिता को काफी टेंशन होती थी। वो रोज कम्प्यूटर का पासवर्ड चेंज किया करते थे, लेकिन त्रिशनित रोज पासवर्ड को क्रैक कर दिया करता था। इस चीज को देखकर उनके पिता भी चौक जाते थे, और एक दिन पिताजी ने त्रिशनित को नया कम्प्यूटर लाकर दे दिया।

trishneet-arora_650x400_41511241752

एक दिन त्रिशनित की स्कूल प्रिंसिपल ने उनके माता-पिता को स्कूल बुलाकर कहा कि उनका बच्चा 8वीं में फेल हो गया है। जिसके बाद उनके माता-पिता ने पूछा आखिर वो करना क्या चाहते हैं। उन्होंने फैसला लिया कि वो कम्प्यूटर में ही अपना करियर बनाएंगे। पिता के कहने पर उन्होंने स्कूल छोड़ दिया और कम्प्यूटर की बारीकियां सीखने लगे। 19 साल की उम्र में वो कम्प्यूटर फिक्सिंग और सॉफ्टवेयर क्लीनिंग करना सीख गए थे। जिसके बाद वो छोटे प्रोजेक्ट्स पर काम करने लगे। उनको पहला चेक 60 हजार रुपये का मिला था। शायद आपकी पहली सैलरी इतनी नहीं होगी… बस क्या था, त्रिशनित ने पैसे बचाकर खुद की कंपनी में खर्च किया और आज करोड़ों के मालिक हैं।

Trishneet-Arora-Founder-TAC-Security-Solutions-addresss-CII-Entrepreneurship-Summit-2015-2

उनकी कंपनी का नाम टीएसी सेक्यूरिटी सॉल्यूशन है। जो एक साइबर सिक्युरिटी कंपनी है। 8वीं फेल होने के बाद उन्होंने स्कूल से दूरी बना ली लेकिन उन्होंने 12वीं डिस्टेंस एज्यूकेशन से की और बीसीए कंप्लीट किया। लेकिन उससे पहले ही वो इतना बड़ा मुकाम हासिल कर चुके है और अब ड्रिग्री की क्या जरुरत।

देखिए रिपोर्ट-

About Sudhanshu Vishwakarma

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may use these HTML tags and attributes: <a href="" title=""> <abbr title=""> <acronym title=""> <b> <blockquote cite=""> <cite> <code> <del datetime=""> <em> <i> <q cite=""> <strike> <strong>